krishna janmashtami

आ भी जाओ कृष्णा हमारे

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

|| आ भी जाओ कृष्णा हमारे कलयुग की धरती तुम्हे पुकारे || || हर घर फिर वृन्दावन हो जाएं माखन मिश्री…

842 2

भए प्रगट आज नंदलाल

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

|| बाजत ढोल गगनं में गुंजत भए प्रगट आज नंदलाल || || लोक लोक से पुष्प है बरसत घनी रात्रि बदल…

830 0

कलयुग की धरती बदलने लगी है

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

  कलयुग की धरती बदलने लगी है। हर तरफ अनोखी छटा बिखरने लगी है। सतयुग की अयोध्या फिर चमकने लगी है।…

465 0

मैं तलाश में हूं जिंदगी की…

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

आँख मिचौली करती है। कभी ना रूबरू मिलती है। मैं भागती हूं रोज इसके पीछे यह सौ कदम आगे चलती है।…

429 0

घर को वृंदावन बना लिया है

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

  मैने अपने घर में मन लगाने का तरीका खोज लिया है। मेरा मन अब शांत है आनंद में है क्योंकि…

673 2

क्यों बिहारी को प्रिय है? भाव की भाषा !

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

एक बार एक व्यक्ति श्री धाम वृंदावन में दर्शन करने गया ! वह दर्शन करके जब लौट रहा था तभी एक…

547 2
Load more