Browsing tag

radha krishna poem in hindi

जाने प्रभु को क्या सूझी है?

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

जाने प्रभु को क्या सूझी है? जीवन सागर सा अथाह  है, ना दिखती कोई सरल राह है, उम्मीदें  भी बुझी-बुझी हैं।…

725 0
krishna sudama friendship

कान्हा अब तो मोहे चाकर लियो बनाये

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

| नित नित तेरे दर्शन पाऊँ, पलकन अपने द्वारा झराऊँ | || दे दो मुझे भी कारज कोई, दास बना अब…

975 0
Load more