Browsing tag

radha krishna poem in hindi

जाने प्रभु को क्या सूझी है?

जाने प्रभु को क्या सूझी है? जीवन सागर सा अथाह  है, ना दिखती कोई सरल राह है,उम्मीदें  भी बुझी-बुझी हैं। जाने…

975 0
krishna sudama friendship

कान्हा अब तो मोहे चाकर लियो बनाये

| नित नित तेरे दर्शन पाऊँ, पलकन अपने द्वारा झराऊँ | || दे दो मुझे भी कारज कोई, दास बना अब…

Load more